Thursday, 28 September 2017

Hindi Poem: Love without Sex | बिना सेक्स के इश्क़...



कोयल के बिना ये काला कानन,
और बिन कंठों के कोकिला।

सन्ध्या के बिना दिन की सुंदरता,
और बिन गोधूलि शाम सुहानी।

ख़ुदा के बिना ये कायनात,
और बिन आदम के ईश्वर।

मयखाने के बिना ये बस्ती,
और बिन शायर के मय-कदा।

गुलाब के बिना ये बाग पियारा,
और बिन जानम के गुले-गुलाब।

कुछ ऐसे ही है...

प्रेम के बिना ये क्षणिक जीवन,
और बिना सेक्स के इश्क़।

(Author, my tukbandi)
www.mytukbandi.in

*Image Source: Pexels

Friday, 4 August 2017

Hindi Poem: वो लड़की जो भागी है अभी...




वो लड़की,
जो भागी है अभी,
हो सकता है
वो भागी नहीं हो,
पहुंची हो कहीं।

-Rajendra Nehra
(Author, my tukbandi)
www.mytukbandi.in


*Image: Google.

Friday, 14 July 2017

Love Tukbandi: The Moon of my Erotic Dreams...




With my naked eyes
What I see on the moon
It is we
Wearing only a smile
Wrapped up in one another.

-Rajendra Nehra
(Author, my tukbandi)
www.mytukbandi.in


*Image: Pexels.