Featured post

New address for my tukbandi

Wednesday, 12 March 2014

Hindi Poem: Life is like a 'Jalebi' | जिन्दगी एक जलेबी है...



जिन्दगी एक जलेबी है,
घूमाव है मगर मीठास है.

और वो ऊपर बैठा हलवाई,
बनाता है जलेबियाँ
कुछ इस प्रकार
कि…

"जितना ज्यादा घूमाव,
उतनी ज्यादा मीठास"



(Author, my tukbandi)

Sunday, 9 March 2014

My Crazy Tukbandi: मेरे सपनों की bike और तेरे एहसासों का fuel



अपने सपनों की bike लेकर,
और तेरे एहसासों का fuel भरकर,
निकल आया हूँ  दूर..... बहुत दूर.....

कभी highway पर तो कभी moon पर चलता हूँ,
और कभी path तो कभी vehicle बदलता हूँ.

moon  पर तो अक्सर flip करता हूँ,
हाँ मगर down होने से डरता हूँ.

ख्वाबों की इस हसीन दुनियां में खो ना जाऊं,
डरता हूँ हद से ज्यादा पागल हो ना जाऊं।

सुन ओ साथी!

अपने एहसास देना मत जाना भूल,
वरना सब हो जाएगा out of fuel.

अब तो मेरा जो कुछ है बस यही है,
कसम से कोई और fuel source नहीं है.



(Author, my tukbandi)

Saturday, 8 March 2014

Hindi Love Poem: आज उसकी आँखों में कोई सवाल नहीं था...



आज उसकी आँखों में कोई सवाल नहीं था,
ख़ामोशी थी, कल वाला सा हाल नहीं था.

 कल तक तो वो दूर ही से गुजरी थी,
मगर आज उसकी निगाह मेरे दिल में उतरी थी.

हाँ उन निगाहों ने मेरे दिल को छू लिया था,
कभी इतना करीब आएगी वो, खयाल नहीं था.

आवारा था, दीवाना था, अब इस खयाल में,
पागल हो गया हूँ और बेहिसाब हो गया हूँ.

यकीन नहीं आता दोस्तों!

जिसकी नजरों में रहने का सपना देखा था कभी,
आज उसकी आँखों का ख्वाब हो गया हूँ.



(Author, my tukbandi)