Featured post

New address for my tukbandi

Wednesday, 17 August 2016

Raksha-bandhan Poetry:


मुझे भी उजालों पर हक़ दिया है,
बहना ने कलाई पर चांद रख दिया है.

-Rajendra Nehra
(Author, my tukbandi)

Saturday, 13 August 2016

Independence Day Hindi Poem: आंदोलन कभी ख़त्म नहीं होते...


उस समय की ज़रूरत थी-
"अंग्रेजों! भारत छोड़ो।"

और...

आज की ज़रूरत है-
"भारतीयों! भारत जोड़ो।"

ज़रूरतें बदलती जाती हैं,
पर आंदोलन कभी ख़त्म नहीं होते।

-Rajendra Nehra
(Author, my tukbandi)